Headline • महिला सांसदों पर किये गए टिपण्णी से घिरे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प• सुप्रीम कोर्ट ने की आसाराम की जमानत याचिका खारिज • धोनी को संन्यास देने की तयारी में है चयनकर्ता, बहुत जल्द कर सकते है फैसला • तकनीकी कारणों की वजह से 56 मिनट पहले रोकी गयी चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग, इसरो ने कहा - जल्द नई तरीक करेंगे तय • भविष्य के टकराव ज्यादा घातक और कल्पना से परे होंगे : सेना प्रमुख जनरल विपिन रावत • इसरो के चेयरमैन ने बताई चंद्रयान-2 मिशन के लांच होने की तरीक, चाँद पर पहुंचने में लगेगा 2 महीने का समय • झाऱखंड के स्वास्थ मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी का रिशवत लेते वीडीयो वायरल, पुलिस ने की FIR दर्ज • राफेल भारत के लिए रणनीतिक तौर पर बेहद अहम साबित होगी : एयर मार्शल भदौरिया• उत्तराखंड : विधायक प्रणव सिंह चैंपियन BJP से बहार • चारा घोटाला मामले में लालू को मिली जमानत• आइटी पेशेवरों के लिए अमेरिका से अच्छी खबर• कर्नाटक संकट : बागी विधायक बोले इस्तीफे नहीं लेंगे वापस• 'अब बस' जाने क्या है मामला• सबाना के सपोर्ट में स्वरा• कर्नाटक का सियासी संग्राम जारी • भारत और न्यूजीलैंड का 54 ओवर का खेल आज• भारत बनाम न्यूजीलैंड• कर्नाटक संकट का असर राज्यसभा में• अहमदाबाद की अदालत  में राहुल गांधी• व्हाइट हाउस में भरा बारिश का पानी • क्या अनुपमा परमेसरन को डेट कर रहे जसप्रीत बुमराह• पाकिस्तान को आंख दिखाता नाग• यूएई और भारत के बीच द्विपक्षीय सहयोग बढ़ाने पर होगी बात• कर्नाटक में सियासी संकट• सभी चोरों का उपनाम मोदी क्यों है: राहुल गांधी


 

इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता के करोड़ों लोग भविष्‍य में पानी में डुबने के डर से जावा द्वीप से बाहर जाकर दूसरी जगह अपनी राजधानी बसा सकते है । इंडोनेशिया की सरकार की तरफ से एसे सकेंत मिल रहें है । दरअसल, राष्‍ट्रपति जोको विडोडो ने नेशनल डेवलेपमेंट एंड प्‍लानिंग बोर्ड के उस प्‍लान का समर्थन करते नजर आए है जिसके तहत राजधानी जकार्ता को जावा द्वीप से बाहर ले जाने की बात कही गई थी । हालांकि यह जानकारी बोर्ड के चीफ बंबांग ब्रॉडजोनेगोरो ने दी । सरकार की तरफ से उस जगह का खुलासा अभी तक नहीं किया गया है जहां पर राजधानी को बसाया जाएगा । स्थानीय मीडिया के मुताबिक 'पलानकोराया' का नाम सबसे आगे है । 'पलानकोराया' बोर्नियो द्वीप पर स्थित है ।

आपको बता दें कि वर्ल्‍ड इकनॉमिक फोरम के मुताबिक जकार्ता दुनिया का सबसे तेजी से डूब रहा शहर है। इसकी एक बड़ी वजह पीने और नहाने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले ग्राउंडवाटर की निकासी है । हालांकि जहां तक राजधानी को दूसरी जगह बसाने की बात है इसमें करीब दस वर्ष का समय लगेगा ।

संबंधित समाचार

:
:
: