Headline • श्रीलंका में सीरियल ब्लास्ट की जिम्मेदारी, आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ने ली• सीएम सहित रेलवे स्टेशनो को मिली आतंकवाद की धमकी• धोनी की बैटिंग देख विराट बोले- धोनी ने तो हमें डरा ही दिया था• पीएम मोदी के अनुरोध पर शाहरुख खान ने एक मजेदार विडियो बना लोगों से की वोटिंग की अपील • श्रीलंका सीरियल ब्लास्ट: श्रीलंका में अब तक बम धमाकों में मरने वालों की संख्‍या 290 पहुंची • राहुल गांधी का ऐलान सरकार बनी तो राष्ट्रीय बजट के साथ किसानों के लिए करेंगे दूसरा बजट पेश• चुनावी माहौल में ट्विंकल खन्ना ने ली अरविंद केजरीवाल पर चुटकी• बाटला हाउस का जिक्र कर पीएम मोदी ने सादा कांग्रेस पर निशाना • यूएई में आज पहले हिंदू मंदिर का शिलान्यास समारोह• रेल हादसा: कानपुर के पास पूर्वा एक्सप्रेस पटरी से उतरी 100 के करीब लोग घायल • लोकसभा चुनाव 2019: बसपा सुप्रीमो मायावती ने मुलायम के बाद अब आजम खां को दिया समर्थन • विराट सेना' का आज कोलकाता से 'करो या मरो' का मुकाबला• कलंक' स्टार वरुण धवन ने कहा, मुझे असफलता से डर नहीं लगता• सूडान में कैदियों की रिहाई और कर्फ्यू समाप्‍त होने पर अमेरिका ने कि प्रशंसा• 24 साल बाद एक मंच पर दिखें माया-मुलायम• रूस के वैज्ञानिकों का दावा 42 हजार साल पहले दफन घोड़े में मिला खून, अब बनाएंगे क्‍लोन • दिनोंदिन आलिया भट्ट और रणबीर कपूर का मजबूत होता रिश्‍ता रह सकते है लिव-इन पर • पश्चिम बंगाल में वोटिंग के दौरान बीजेपी-टीएमसी कार्यकर्ताओं के बीच हुई हिंसा • लीबिया की राजधानी त्रिपोली में गृहयुद्ध की जंग में 205 की मौत, 913 के करीब घायल • लोकसभा चुनाव 2019 के दूसरे चरण की 95 सीटों पर वोटिंग जारी• PM मोदी की फिल्‍म 'पीएम नरेंद्र मोदी' का ट्रेलर यूट्यूब से हटा • साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर बीजेपी में हुई शामिल • फ्रांस की राजधानी पेरिस में स्थित 12वीं सदी का नोटे्र डाम कैथेड्रल चर्च आग लगने से तबाह • प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने महाराष्ट्र के माढा क्षेत्र में एक जनसभा को किया संबोधित • जयाप्रदा पर अभद्र टिप्पणी को लेकर महिलाओं ने फूंके आजम खा के पोस्टर


वन विभाग में हुए घोटाले की परत दर परत खुलती जा रही है। वन विभाग में करोड़ोंं रूपये का घोटाला हुआ हैंं। ये घोटाला पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत व जीरो टोरेन्स वाली भाजपा वर्तमान मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सरकार में हो रहा है। इन घोटालाेेंं का मास्टर माइंड उत्तरी कुमाऊ वित्त संरक्षक डॉ आरपी सिंह को बताया जा रहा है। डीएफओ पंकज कुमार ने मुख्यमंत्री, भाजपा प्रदेश अध्‍यक्ष, वन मंत्री, अपर मुख्य सचिव व प्रमुख वन संरक्षक को पत्र लिख कर उत्तरी कुमाऊ संरक्षक डा आरपी सिंह पर भ्रष्टाचार व करोड़ों केे घोटालेे का अरोप लगा कर उनकी जांच कर कार्यवाही की मांग की है।

उत्तरी कुमाऊ संरक्षक ने करोड़ों के घोटाले पर कोई कार्यवाही ना हो इसके लिए उन्होंंने डीएफओ पंकज कुमार का तबादला कर दिया। जिसको डीएफओ ने हाईकोर्ट से स्टे ला कर दुबारा अल्मोडा में तैनाती की, जिसके बाद वन संरक्षक ने डीएफओ के खिलाफ साजिस कर पूरे स्टाफ को उनके खिलाफ आन्दोलन के लिए मजबूर कर उनका दुबारा तबादला किया गया। डीएफओ पंकज कुमार ने मुख्यमंत्री, भाजपा प्रदेश अध्‍यक्ष, वन मंत्री, अपर मुख्य सचिव व प्रमुख वन संरक्षक को पत्र लिख कर वन विभाग में हुए घोटाले व भ्रष्टाचार का खुलासा कर उनके खिलाफ कार्यवाही की मांग की है।

डीएफओ पंकज कुमार ने लिखे पत्र पर कहा कि आईपी सिंह लम्बे समय से भ्रष्टाचार में लिप्त है। जब आईपी सिंह प्रभागीय वनाधिकारी पद पर पिथौरागढ़ में तैनात थे तब उन्होंंने भ्रष्टाचार की सभी हदें पार कर दी थी। बकर लीफ योजना में बाजार की दरों से अधिक दरों पर करोड़ों का सामान उत्तराखण्ड क्रय नियमावली के विपरीत मोटा कमीशन लेकर क्रय किया गया था।

ये पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के काफी नजदीकी थे उन्ही के दबाव में जायका योजना और कई करोड दैवीय आपदा में दिलायेे गए। इस पैसे में मोटा कमीशन लिया और कोई काम नही कराया गया।मुख्यमंत्री घोषणा के तहत करोड़ों पैसा मिला लेकिन आरपी सिहं ने मोटा कमीशन लेकर बहुत ही कम काम कराया और कई पुराने कामों को व दूसरी योजनाओं में कराए गए कार्यों को इस योजना में दिखाया। इसके लिए इन्होंंने डीडीआर रेजरों को अटेच कर दिया और डिप्टी रेजरों को चार्ज दिया गया ताकि वे 50 से 60 प्रतिशत तक कमीशन दे सके।

आर पी सिंह ने पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत से मिलकर अपनी पोस्टिंग वन संरक्षक अल्मोडा के पद पर करायी ताकि इनके पुराने कामों में की गयी अनियमितताओं की जांच न हो सके। अल्मोडा कोसी परियोजना में भी 2 करोड़ रूपये का घोटाला किया गया है।

कोसी परियोजना में दो करोड़ कैम्पा योजना में विभाग दिया गया जिसमें अभी तक कोई काम नही कराया गया जो सामान खरीदा गया वह भी नियमों को दर किनार कर अपने मनचाहे ठेकेदारों से मिलकर खरीदा गया। जब यह मामला डीएफओ पंकज कुमार के पास आया तो उन्होंंने इसकी जांच शुरू कर दी। तो कर्मचारी को उनके खिलाफ भड़का कर आन्दोलन खड़ा कर दिया गया। जिससे कि इस पूरे घोटाले पर पानी फेरा जा सके।

संबंधित समाचार

:
:
: