Headline • सोशल मिडिया पर नुसरत जहां की हुई बड़ी तारीफ• 2019 के सेमीफाइनल में पहुंचने वाली पहली टीम बनी ऑस्ट्रेलिया• चंद्रबाबू नायडू का आलीशान बंगला बना खँडहर • पीएम मोदी के बयान पर सदन में हंगामा   • मसूद अजहर मौत के दरवाजे पर • सुनैना रोशन के ब्वॉयफ्रेंड रुहेल ने रोशन परिवार पर लगाया आरोप • माइकल क्लार्क ने बुमराह और कोहली के बारे में कहा• हफ्ते भर की देरी के बाद मानसून अब  देगा दस्तक  •  राम रहीम ने की पैरोल मांग• रणबीर कपूर और आलिया के रिश्ते पर लग सकती है मुहर • रूस अमेरिका से रिश्ते मधुर करने में जुटा • यूपी के 15 शहरों के लिए राष्ट्रीय हरित अधिकरण (NGT) की चेतावनी • मायावती का अखिलेश पर बड़ा आरोप, अखिलेश के कारण हुई हार• चेन्नई की प्यास बुझाने के लिए चलाई गई स्पेशल ट्रेन• भारत की निगाह बड़ी जीत पर, अफगानिस्तान के खिलाफ विश्व कप में पहली बार भारत• बिहार में मानसून पहुंचने से लोगो ने ली राहत की सांस • एक बार फिर सदन में तीन तलाक के मुद्दे पर तीखी बहस • विश्व कप में अंतिम चार के लिए अपनी दावेदारी मजबूत करने उतरेगा भारत • संकट में कुमारस्वामी की सरकार, एचडी देवगौड़ा ने मध्यावधि चुनाव की आशंका जताई• अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंन्द मोदी का दुनिया को सन्देश। • गौतम गंम्भीर ने साझा किए इमोशनल मैसेज • अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर पीएम मोदी  रांची  में करेगें योग • भारत को आतंक का नया ठिकाना बनाने की फिराख में है ISIS के आतंकी• अमेरिका के इस कदम से, कामकाजी भारतीयों को होगी परेशानी• चुनाव के बाद तेजस्वी कहाँ गायब हो गये है।


कांग्रेस महासचिव बनने के बाद से प्रियंका गांधी पर भाजपा नेताओं का हमला रुकने का नाम नहीं ले रहा। अल्पसंख्यक कार्यों के केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने प्रियंका गांधी को एक शिगूफा करार दे डाला। उन्होंने कहा कि सपा बसपा गठबंधन को डराने के लिए कांंग्रेस ने प्रियंका गांधी का शिगूफा छोड़ा है।

अल्पसंख्यकयक कार्य मंत्रालय की सीखो और कमाओं योजना के अंतर्गत कौशल विकास केंद्र और मौलाना आज़ाद एजुकेशन फाउंडेशन के अंतर्गत छात्रावास का उद्घाटन करने, रामपुर के दीक्षित कॉलेज पहुचे केंद्रीय अल्पसंख्यक मंत्री मुखतार अब्बास नकवी के संबोधन में कांग्रेस की नवनियुक्त महासचिव प्रियंका गांधी छाई रही। उन्होंने कहा कि कांग्रेस खानदान और प्रधान की पार्टी है खानदान के लोग सिंहासन पर रहते हैं और जो कार्यकर्ता हैं वह पानदान लिए शीर्षासन पर रहते हैं। कभी मां , कभी बेटा, कभी बेटी, कभी सास, कभी बहू यही सब चलेगा इसके अलावा कुछ नहीं है जहां तक इसके असर का ताल्लुक है तो देश की राजनीति पर इसका कोई असर नहीं पड़ेगा।

हम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 5 सालों के परिश्रम और परफॉर्मेंस के आधार पर जनता के बीच जाने वाले हैं।

संबंधित समाचार

:
:
: